Note – सफलता ऐसे प्राप्त होती है ! (Achive the success) must read!

इसे थोड़ा पारदर्शी करके समझते है ,जो मेरा स्वयं का अनुभव है और मैं इसमें कभी फेल नहीं होता ! इसे याद रखे की , असफलता सफलता के लिए एक बीज है जो आगे के प्रयासों में सफलता के फसल उगाता है ! इसलिए जीवन के सभी बुरे अनुभवों से अपना ध्यान तत्काल प्रभाव से हटा लें! मैडीटीशन की आदत बनाये ,इससे आपकी सोच आपकी जिंदगी पूरी तरह से बदल जाएगी,आप इस संसार में एक नए व्यक्ति होंगे , संकल्प करे की आप सफल होके रहेंगे!संकल्प से वो चीजे आपके लिए प्रकट होगी जो सफलता के लिए अभी तक कहीं छुपी हुई थी !

जिंदगी बदलती है सोंच बदलने से, इसके लिए मैडीटीशन ही एक मात्र पथ है ! हर यक्ति की सोच यानि सकारात्मकता और नकारात्मकता लेवल अलग अलग होता है , आप कितने नकारात्मक है आप हर दिन इसे चेक करे सकारात्मक होने के पश्चात ही आपके विचार क्लियर होंगे की वास्तव में आपको पहुंचना कहा है ! आपको अगले एक वर्ष दो वर्ष या पांच वर्षो में क्या और कितना चाहिए ? ये पूरी तरह क्लियर करे ! जैसे आपने तय किया की अगले एक वर्ष में मुझे ये (कोई भी चीज) इतना चाहिए , या मेरी लाइफ ऐसे होगी तो अब से आपके मन के कोने कोने में इसी के विचार इसी के दृश्य होने चाहिए ! आपका मन एक बैंक की तरह है, मन के भीतर जो चीजे होगी जितना जिस रूप में , आप बाहर अपने सासारिक जीवन में उतना ही और बस वही विदड्रा करते हो ! आप इसे आजमाने के इरादे से न करे ,ऐसे आपको असफलता ही मिलती रही अभी तक ! अब इस विधि का प्रयोग पाने के लिए करे ,और अपने सपने को अपने पांचो इन्द्रियों से इस सचाई के साथ महसूस करें! जैसे वो आपको प्राप्त हो चूका है और यही सच है !

Mind मन जिस चीज पर विस्वास करने लगा है भले ही उस चीज का अतित्व न हो , वो अभी दूर का एक ख्वाब हो फिर भी वो सच बन जाता है और साकार रूप लेकर सामने आ जाता है ! बहुत से लोगो को इस थ्योरी पर यकीन नहीं होता लेकिन माय डिअर फ्रैंड्स ये बात जान लो आपके भीतर का विस्वास जो कुंडली मारकर बैठा हुआ है वही वैसे ही सब कुछ क्रिएट,कर रहा है ! आपके विचारो की ऊर्जा सघन रूप में कही न कही बह ही रही है , तो क्यों न हम उसे एक दिशा दे दे जिससे हमारा जीवन हमारे हिसाब से डिजाइन हो सके !

आपका सोंच आपके मन में एक और माइंड का निर्माण करता है ! और माइंड बहुत ही शक्तिसाली होते है !आप माइंड से जितना लड़ोगे, ये उतना ही आपको और भी ज्यादा परेशान करेगा! इस पर काबू नहीं पाया जा सकता ये तो एक शक्तिसाली ऊर्जा है ,सिर्फ इसकी दिशा बदली जा सकती है ! इसे सही काम पर लगाए, फिर ये आपको वो देगा जो आपको चाहिए !

जब आपका माइंड , सकारात्मक विस्वास के पथ पर अग्रसर होने लगता है तो परस्तिथियो में अपने आप बदलाव होना शुरू हो जाता है ! आपको नए नए लोग , नए अवसर मिलने लगते है , सृस्टि आपके साथ सुर, में सुर मिलाकर आपके साथ चलने लगती है !अनजान लोगो की सहायता आप तक पहुंचने लगेगी , जो आपके जीवन ,आपके व्यवसाय,आपकी पदोन्नति में बेहद सहायक हो जाते है ! आप सफलता के शिखर पर पहुँच जाते है ! सृस्टि इसी तरह इनाम देती है !सृस्टि एक मनुष्य को किसी भी प्रकार का लाभ पहुंचाने के लिए अन्य दूसरे मनुस्यो को भेजती है !
.
अपने शारीरिक कर्म को अपने मानसिक,स्तर से कॉस्मिक (अलौकिक) ऊर्जा प्रदान करे ! जिससे आपके दैनिक शारीरिक कर्म तेजी से आपको सफलता की ऊंचाई पर ले जाये ! कॉस्मिक एनर्जी ब्रहाण्डीय अलौकिक ऊर्जा होती है जो आपके हम सभी के जीवन को चलाती है , और जब हम नींद लेते है तो थोड़ी मात्रा में ये हमें प्राप्त होती है ,किन्तु जब हम हरदिन मैडीटीशन करते है तो ये हमें अधिक मात्रा में प्राप्त होती है ! इस तरह कर्म करने से आपके लिए सफलता व्यापक रूप से निश्चित हो जाती है , वो सारे रास्ते खुल जाते है , जिसे भाग्य कहा जाता है !

यदि आप ध्यान की तुर्यावस्था (शून्य अवस्था) में जाकर अपने स्वप्नों को हकीकत रूप में अपने पास देखे तो आपका ख्वाब बहुत तेजी से साकार हो उठेगा, आपको जो विधि समझ आये वही करे , लेकिन कॉस्मिक एनर्जी लेस कर्म करते रहेंगे तो सफलता और सफलता के प्रतिशत की कोई गारंटी भी नहीं है ! मैडीटीशन तुर्या अवस्था (शून्य अवस्था) को जानने के लिए मैडीटीशन पर लिखे मेरे 10 लेख बार बार पढ़े ! आपकी सफलता की अग्रिम शुभ कामना !!
कोई प्रश्न हो तो कमेंट करे , आपको अतिशीघ्र उत्तर दिया जाएगा

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s