Mony- (धन- का बहाव)

यह लेख बहुत महत्वपूर्ण है ! कृपया इसे बार,बार पढ़े और इस विधि पर आज से ही कार्य शुरू कर दे जिससे आपको धन की प्राप्ति तेजी से होने लगे! इस ब्लॉग में लिखी सभी बातें प्रैक्टिकल रूप से आजमाई हुई तथा फलदाई है! किसी और का नहीं मेरा स्वयं का बेहतरीन अनुभव है जो हमेशा कार्य करता है !
जब आप रोज सुबह उठते है तो सबसे ज्यादा विचार आपके मन में किस तरह के आते है? नकारात्मक क्रोध पूर्ण!अथवा ग्लानि,हीनता निराशाजनक,जैसे भावो से भरे हुए विचार !
जो भी हो ,आप अपनी नैसर्गिक मानसिक ऊर्जा को सुबह सुबह ही अनावस्यक ख़तम कर लेते हैं! रोज के काम,धाम या यु समझिये की जिंदगी की शुरुआत ही सुबह से होती है! धन एक खिचाव हैं यह मन की एक गहरी अवस्था है ! इसे सुबह से ही महसूस करना शुरू कर दे पुरे दिल से, और आपको ये महसूस हो की हर दिशा से धन आपकी की ओर बहता हुआ आ रहा है !धन को, पैसे या करेन्सी को अपने हाथो में महसूस करे जैसे वो आपको मिल चूका है दिल की गहराई से ऐसा प्रतिदिन करे और खुशहाली महसूस करें! जब आपके मन की भावनामक ऊर्जा आपकी धनात्मक कल्पना से जुड़ जाएगी तो बहुत तेजी से धन आपके जीवन में आने लगेगा!धन आने के रास्ते हज़ारो होते है इस लिए ये चिंता न करे की ये कहा से आएगा!आपके जीवन में धन प्राप्ति के ढेरो अवसर अचानक ही उत्पन्न होने लगेगें! ये करना बहुत ही आसान है! जो व्यक्ति ज्यादा धनवान है वो जाने अनजाने धन को इसी तरह प्राप्त करता है!जब धन आने लगे तो उसे सम्मान दे, और उसे दिल से मन ही मन हमेशा धन्यवाद देते रहे! हर वक़्त धन आने के लिए अपनी मानसिक ऊर्जा को लगाए क्योकि धन कोई बस्तु नहीं है इसे वस्तु बनाया गया है! धन सिर्फ मानसिक ऊर्जा का ही एक रूप है वस्तुतः यह एक ऊर्जा है! पृथ्वी पर मौजूद समस्त देशों की करेन्सी अलग,अलग है करेन्सी का रूप रंग बनावट भी भिन्न,भिन्न है किन्तु कोई चीज सामान है तो वह है ऊर्जा! एक कठिन श्रम करने वाला इंसान ज्यादा पैसे नहीं कमा पाता इसलिए की वह ऊर्जा के विषय में अज्ञान है ! धन तो उसी मन की तरफ बड़ी मात्रा में प्रवाहित होता है जो मन उसे दिल की गहराई से चाहता है! और जाने अनजाने उसे पूरा विस्वास होता है कि धन पाना बहुत आसान है यह सिर्फ एक मानसिक प्रक्रिया भर है!
यह लेख आपको कैसा लगा ,यदि कोई प्रश्न हो तो कमेंट करे आपको उत्तर दिया जायेगा!
धन्यवाद!

3 thoughts on “Mony- (धन- का बहाव)”

  1. मैंने इस विषय पर कई पुस्तकें पढ़ी है
    हर पुस्तक में यही बताया गया है ,
    लेकिन मुझे यह तरीका प्रैक्टिकल नहीं लगता ,
    सिर्फ पैसे के बारे में सोचने से पैसा तो नहीं आता!🤔🤔

    Like

    1. Dear, adgaly.. आपकी बात सही भी है और नहीं भी , पैसे के बारे में सभी सोचते है लेकिन सभी को पैसा नहीं मिलता या हमेसा सोचने से ही पैसा नहीं मिलता ….ऐसा क्यों होता है इस टॉपिक पर अगला ब्लॉग आपके लिए लिखता हूँ जिसमे
      बहुत कुछ स्पस्ट हो जायेगा …और आपको अपना उत्तर मिल जायेगा .. मैं यहाँ सिर्फ किताबी बाते नहीं कर रहा …मेरा अपना अनुभव है …इस कमेंट के लिए आपको धन्यवाद ,
      अजय कुमार !

      Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s