(सफलता)प्रेरक कहानी l

तीन आदमी थे ! दो समझदार परिपक़्व, जब की एक थोड़ा पागल सा था उसकी वजह से कई बनते हुए काम बिगड़ जाते थे ! ऐसा कई बार हो चूका था ! हर समझदार इंसान उस व्यक्ति से दूर रहना चाहता था ! लेकिन अभी फिर भी तीनो दोस्त थे और कही जा रहे थे ! रास्ते ेंमें एक जंगल दिखाई दिया सूर्य चढ़ आया था! सुबह के निकले उनको भूख ने आ घेरा सबने सोचा सायेद जंगल में कुछ खाने को मिल जाए
वो जंगल में खाना ढूढ़ने लगे पर वो नहीं मिला ! काफी वक़्त बाद तीनो निराश हो गए एक ने कहा किसी छोटे पशु को मार कर खा लिया जाय जिससे पेट की भूख शांत हो सके ! लेकिन आस पास ढूढ़ने पर कोई पशु भी नहीं दिखाई पड़ा! भूख बढ़ती ही जा रही थी ! इसके लिए दोनों समझदार व्यक्तियों ने उस पागल को जिम्मेदार बना दिया और उससे कहा की तुम हम दोनों से अलग हो जाओ ताकि हमें खाना मिल सके यह कहकर दोनों ने उसे अकेला छोड़ कर आगे बढ़ गए ! पागल व्यति अब अकेला था उसने अकेले ही खाना ढूढ़ने की सोची और इसके लिए वह दूसरी दिशा में बढ़ गया !
कुछ दूर जाकर उसे एक खरगोश दिखाई दिया वो खरगोश के पीछे दौड़ा खरगोश आगे भगा और जमीन के अंदर बने एक माद में घुस गया ! पागल व्यक्ति उस माद को अपने हाथो से खोदने लगा , कुछ पल बाद ही वो दोनों व्यक्ति भी खाना ढूढ़ते हुए वहां आ पहुंचे अभी तक उन दोनों को कुछ भी नहीं मिला था ! पागल व्यक्ति को माड़ खोदते देख उससे पूछा ये तुम क्या कर रहे हो , पागल ने कहा , इसमें खाने के रूप में एक खरगोश है तुम लोग मेरी मदद करो ! उसकी यह बात सुनकर दोनों उस पर हसने लगे! उससे बोले ये काम बेवकूफी भरा है ! माद में जहरीले सर्प रहते है यह कहकर वो दोनों फिर उसे अकेला छोड़कर वहां से चले गए ! लेकिन वह पागल माद को खोदने में लगा रहा ! कुछ समय बाद खरगोश उसकी पकड़ में आ गया लेकिन उसे खरगोश पर दया आ गयी उसने खरगोश को छोड़ दिया , और पेड़ से कुछ पत्ते तोड़कर उसे खाकर वापस अपने घर की तरफ चल दिया ! यह कहानी हमें बताती है की हमें अपने कार्य पर भरोसा रखना चाहिए ना कि दुसरो की नकारात्मक बातो पर , लगन और दयालुता ही इंसान को सफल और सर्वश्रेष्ठ बनाती है l

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s