शारीरिक और मानसिक बीमारियों को ठीक करने का आध्यात्मिक उपाय !(Mental And phisical cure all Problems)

स्वस्थ शरीर ही सब कुछ होता है चाहे वो मानसिक शरीर की बात हो या भौतिक शरीर की बाते हो स्वस्थ शरीर अनेक सुखो का कारण होता है तथा एक बीमार शरीर तमाम दुखो का कारण बनता है सामान्य बीमारिया जैसे जुकाम सर्दी की तो कोई बात नहीं किन्तु घातक बिमारियो से मनुष्य हर प्रकार… Continue reading शारीरिक और मानसिक बीमारियों को ठीक करने का आध्यात्मिक उपाय !(Mental And phisical cure all Problems)

शिवोहम, मेरा स्वयं का अनुभव और ईस्वरीय दर्शन ! (अजय कुमार)

आज मैं अपने कुछ विषेश आध्यात्मिक अनुभवों को नए तरीके से बहुत संछेप में प्रकट करने जा रहा हूँ इसलिए नहीं की मुझे ये उपलधि प्राप्त हुयी बल्कि इसलिए की जिन्हे अध्यात्म और अवचेतन की शक्ति पर विस्वास नहीं उन्हें मैं नयी दिशा प्रदान कर सकू!जिससे वो भी अपनी पवित्र किसी मनचाही योजना को साकार… Continue reading शिवोहम, मेरा स्वयं का अनुभव और ईस्वरीय दर्शन ! (अजय कुमार)

नवरात्री स्तुति ! (Devine thauts in mind)

देवी आदि शक्ति की आराधना करने के साथ स्तुति भी जरुरी है क्योकि देवी बाहर तो है ही मनुष्य के भीतर भी है मनुष्य किसी न किसी कामना की पूर्ति के लिए देवी देवताओ की पूजा अर्चना करता रहता है किन्तु उचित स्तुति के आभाव में कामना की पूर्ति नहीं हो पाती ! समस्त देवी… Continue reading नवरात्री स्तुति ! (Devine thauts in mind)

समस्त संसार मात्र इक भाव है (Hole universh is Only one intention )

ये समस्त संसार इक भाव है ! जहा हर दिन जीवन और मृत्यु का अनंत उपक्रम चल रहा है संसार की रचना संसार के रचने के भाव से हुयी है!एक अनंत शक्ति जो भक्त और भगवान दोनों स्वयं ही है और वो हर जग़ह कण कण में बिद्यमान है मन के भीतर का प्रत्येक भाव… Continue reading समस्त संसार मात्र इक भाव है (Hole universh is Only one intention )

आदि शक्ति ! नवरात्री (Universh In Devine Enargi)

जो जन्म देती है उसे माँ कहा जाता है,जैसे हम सभी का जन्म,सभी भोतिक बस्तुओं और समस्त सृस्टि का जन्म! माँ शब्द अपने आप में बहुत पवित्र और बहुत शक्तिसाली शब्द है इस शब्द में उत्पति जगत का रहस्य छुपा हुआ है माँ की रचना ईश्वर की सर्वोच्च रचना है इस समस्त जगत में इससे… Continue reading आदि शक्ति ! नवरात्री (Universh In Devine Enargi)

जिद , सफलता के लिए जरुरी क्यों होता है ?(Why become comitment a success)

दोस्तों, जैसे एक शरीर को चलाने के लिए कई चीजों की जरूरत पड़ती है जैसे हवा,अग्नि,अकाश जल, अन्न,रोशनी,दवाये और भी कई चीजे,ठीक उसी प्रकार जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए अन्य कई ंकार्यों के साथ जिद की भावना का भी होना अत्यंत जरुरी है! जिद यानि संकल्प यानि कमिटमेंट,जीतने के लिए,मनुष्य जीवन भौतिक और… Continue reading जिद , सफलता के लिए जरुरी क्यों होता है ?(Why become comitment a success)

धन का रहस्य ! (The Secret in mony and Gold)

धन क्या है जिस वस्तु को हम धन मानते है वो धन नही होता धन तो कुछ और ही चीज है जो उस वस्तु को प्रकट करती है जिसे हम इस संसार में धन के रूप में देखते और उसका प्रयोग करते आये है! गोल्ड यानि सोना, सिल्वर यानी चांदी, तांबा,लोहा पीतल कॉपर आदि ये… Continue reading धन का रहस्य ! (The Secret in mony and Gold)